Monday, February 26, 2024
Homeदेशतेजस लड़ाकू विमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भरी उड़ान, बोले- यह...

तेजस लड़ाकू विमान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भरी उड़ान, बोले- यह अनुभव अविश्वसनीय

बेंगलुरु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Flies in Tejas) ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तेजस विमान से उड़ान भरी। पीएम मोदी शनिवार यानी 25 नवंबर को बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमटेड (HAL) की फैसिलिटी पहुंचे थे। पीएमओ के मुताबिक, उन्होंने तेजस की मैन्यूफैक्चिरिंग हब का निरीक्षण किया। उड़ान के बाद पीएम मोदी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। उन्होंने लिखा, ‘तेजस पर सफलतापूर्वक उड़ान पूरी की। यह अनुभव अविश्वसनीय था। इस अनुभव ने हमारे देश की स्वदेशी क्षमताओं में मेरे विश्वास को काफी हद तक बढ़ा दिया है। इसने हमारी राष्ट्रीय क्षमता के बारे में मुझमें नए सिरे से गर्व और आशावाद की भावना जागृत की है।

तेजस में 45 मिनट तक उड़ान भरी

पीएम मोदी की तेजस विमान में कुल 45 मिनट की सॉर्टी रही। यानी पीएम मोदी ने हल्के लड़ाकू विमान तेजस में 45 मिनट तक उड़ान भरी और इस दौरान आसमान में उड़ान भरते वक्त कुछ देर के लिए सारे कंट्रोल को भी खुद ऑपरेट किया। पीएम मोदी ने तेजस लड़ाकू विमान में उड़ान भरने के बाद कहा कि उन्होंने सफलतापूर्वक तेजस की उड़ान भरी और उन्हें इसके लिए गर्व है। भारतीय वायुसेना, DRDO और HAL के साथ ही समस्त भारतवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं।’ उन्होंने एक और पोस्ट में कहा, ‘तेजस पर सफलतापूर्वक उड़ान पूरी की। यह अनुभव अविश्वसनीय रूप से समृद्ध था, जिसने हमारे देश की स्वदेशी क्षमताओं में मेरे विश्वास को काफी हद तक बढ़ा दिया और हमारी राष्ट्रीय क्षमता के बारे में मुझमें नए सिरे से गर्व और आशावाद की भावना पैदा की।

गौरतलब है कि तेजस भारत द्वारा विकसित किया जा रहा एक हल्का व कई तरह की भूमिकाओं वाला जेट लड़ाकू विमान है। यह हिन्दुस्तान एरोनाटिक्स लिमिटेड द्वारा विकसित एक सीट और एक जेट इंजन वाला, अनेक भूमिकाओं को निभाने में सक्षम एक हल्का युद्धक विमान है। यह बिना पूंछ का, कम्पाउण्ड-डेल्टा पंख वाला विमान है।

दरअसल, भारतीय वायु सेना ने हाल ही में 12 एडवांस्ड Su-30MKI लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए राज्य के स्वामित्व वाली HAL को एक टेंडर जारी जारी किया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रक्षा उत्पादों के स्वदेशी उत्पादन पर जोर दे रहे हैं और उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला है कि कैसे उनकी सरकार ने भारत में उनके विनिर्माण और उनके निर्यात को बढ़ावा दिया है। बता दें कि कई देशों ने हल्के लड़ाकू विमान तेजस को खरीदने में रुचि दिखाई है और अमेरिकी रक्षा दिग्गज जीई एयरोस्पेस ने प्रधानमंत्री मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान Mk-II-तेजस के लिए संयुक्त रूप से इंजन बनाने के लिए एचएएल के साथ एक समझौता किया था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments