Wednesday, February 21, 2024
Homeराज्‍यछत्‍तीसगढछत्तीसगढ़ में विष्णु की कैबिनेट में लक्ष्मी के साथ राम और श्याम...

छत्तीसगढ़ में विष्णु की कैबिनेट में लक्ष्मी के साथ राम और श्याम भी

छत्तीसगढ़ में मंत्रिमंडल का विस्तार आकार ले चुका है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की लीडरशिप में भाजपा के 9 विधायकों ने पद और गोपनीयता की शपथ ले ली है। शपथ लेने वाले मंत्रियों को विभागों का बंटवारा बाद में किया जाएगा। विष्णु साय के मंत्रिमंडल में मंत्रियों की कुल संख्या 12 हो चुकी है जिन पर सरकार चलाने का जिम्मा फिलहाल रहेगा। इन 12 सदस्यीय मंत्रिमंडल में दो उपमुख्यमंत्री भी शामिल हैं। छत्तीगढ़ का सरगुजा ऐसा संभाग रहा जिसका मंत्रिमंडल में भागीदारी में अब तक सबसे ज्यादा दबदबा दिखाई दे रहा है और भाजपा ने सर्वाधिक सीटें भी यहीं से जीती हैं।
विष्णु के मंत्रिमंडल में यह हैं मंत्री…

बृजमोहन अग्रवाल : एबीवीपी से राजनीति की शुरूआत करने वाले बृजमोहन अग्र्रवाल 1990 में पहली बार विधायक बने हैं और इस बार प्रदेश में सबसे बड़े वोटों के अंतर की लीड लेकर जीते हैं। अग्रवाल 8 बार से लगातार विधायक चुने जाते रहे हैं।

रामविचार नेताम : छह बार से विधायक रहे हैं। 2016 में वह राज्यसभा के लिये भी चुने गये थे। रमन सरकार में वह दो मंत्री पद संभाल चुके हैं। छत्तीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के सीनियर नेताओं में उनका नाम आता है। कांग्र्रेस के अजय तिर्की को चुनाव में हराकर चुनाव जीत हैं।

दयालदास बघेल : पहले भी मंत्री पद का भार संभाल चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी ने इन्हें अब तक 6 बार टिकिट दिया है। 2003 में पहली बार जीते थे। बघेल एक बार 1998 में भारतीय जनता पार्टी के टिकट हार का सामना भी कर चुके हैं।

केदार कश्यप : बस्तर से सांसद रह चुके स्वर्गीय केदार कश्यप के बेटे हैं। जब वह पहली बार विधायक का चुनाव जीते थे उसी बार वह मंत्री बनाए गए थे। उन्होंने 2023 में उन्हीं ही हराया जिनसे वह 2018 में हार गये थे। नारायणपुर विधानसभा से चुन कर आए हैं। इनके अलावा मंत्रिमंडल में भटगांव विधानसभा सीट से विधायक लक्ष्मी राजवाड़े, मनेंद्रगढ़ विधानसभा सीट से श्यामबिहारी जायसवाल, जबकि रामानुजगंज विधानसभा सीट से रामविचार नेताम विधायक निर्वाचित हुए हैं।

12 में से 11 मंत्री करोड़पति

संपत्ति की बात करें तो नई कैबिनेट के पास औसतन 5.73 करोड़ रुपये की संपत्ति है। केवल एक मंत्री लखनलाल देवांगन ऐसे हैं जो करोड़पति नहीं है। उनके पास कुल 58.66 लाख रुपये की कुल संपत्ति है। रायपुर शहर दक्षिण से जीते बृजमोहन अग्रवाल सबसे अमीर मंत्री हैं। उनके पास कुल 17.49 करोड़ रुपये की संपत्ति है।  अग्रवाल के समेत कुल तीन मंत्रियों के पास 10 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है। इनमें रायगढ़ से जीते ओपी चौधरी और मनेंद्रगढ़ से जीते श्याम बिहारी जायसवाल शामिल हैं। चौधरी के पास कुल 12.90 करोड़ तो जायसवाल के पास 12.09 करोड़ रुपये की कुल संपत्ति है। कैबिनेट में शामिल सात मंत्रियों के पास एक से पांच करोड़ रुपये कुल संपत्ति है। राम विचार नेताम के पास 6.92 करोड़ रुपये की संपत्ति है। नेताम पांच से 10 करोड़ के बीच की संपत्ति वाले अकेले मंत्री हैं।

उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा समेत तीन मंत्रियों पर चल रहे आपराधिक मामले

नई कैबिनेट के तीन मंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा, दयाल दास बघेल और ओपी चौधरी शामिल हैं। दयाल दास बघेल पर एक मामला चल रहा है। वहीं, ओपी चौधरी पर पांच मामले चल रहे हैं। जबकि, उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा पर कुल सात मामले चल रहे हैं। 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments