Saturday, May 18, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशCM शिवराज बनाएंगे हनुमान लोक, पांढुर्णा को नया जिला बनाने की भी...

CM शिवराज बनाएंगे हनुमान लोक, पांढुर्णा को नया जिला बनाने की भी घोषणा

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार जनसभा और रैलियां कर रहे हैं। साथ ही, हर क्षेत्र के हितों को लेकर CM शिवराज सिंह चौहान लगातार घोषणाएं भी कर रहे हैं। इसी कड़ी में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में हनुमान लोक का भूमिपूजन किया। जामसांवली मंदिर में बन रहे हनुमान लोक पर 314 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पांढुर्णा, नांदनवाड़ी और सौसर को मिलाकर नया जिला बनाने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने छिंदवाड़ा जिले के प्रसिद्ध जामसांवली हनुमान मंदिर में “हनुमान लोक” का विधि-विधान से भूमिपूजन किया। 26.50 एकड़ में बन रहे ‘हनुमान लोक’ के प्रथम चरण का कार्य 35 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से किया जाएगा। शिवराज ने कहा कि ‘हनुमान लोक’ दिव्य तथा भव्य लोक भारत की आध्यात्मिक तथा सांस्कृतिक चेतना का केंद्र बनेगा। उन्होंने कहा कि राम जी के आशीर्वाद से छिंदवाड़ा जिले के जामसांवली में हनुमान लोक बनने जा रहा है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि महाकाल लोक की तरह ही हनुमान लोक भी करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था का केंद्र बनकर उभरेगा। हनुमान जी का आशीर्वाद सभी प्रदेशवासियों पर बना रहे, यही कामना करता हूं।

छिंदवाड़ा दौरे पर आए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ‘मेरे जीवन का यह अद्भुत क्षण है। भगवान श्रीराम और सीता मां के चरणों में प्रणाम कर हमने आज श्री हनुमान लोक का भूमि पूजन किया है। यह अद्भुत सिद्ध स्थल है।’ मुख्यमंत्री इससे पहले नागदा (उज्जैन) और पिछोर (शिवपुरी) को नया जिला बनाने की घोषणा कर चुके हैं। पांढुर्णा, नांदनवाड़ी और सौसर अभी छिंदवाड़ा जिले का हिस्सा है। राज्य स्तरीय रोजगार दिवस कार्यक्रम में शिवराज 8.34 लाख से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत पांच हजार करोड़ रुपये से अधिक की ऋण राशि वितरित करेंगे।

ऐसा बनेगा श्री हनुमान लोक

जामसांवली में 26 एकड़ से अधिक क्षेत्र में श्री हनुमान लोक आकार ले रहा है। दो चरणों में 314 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पहले चरण में 35.09 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसमें मराठवाड़ा वास्तुकला से प्रेरित भव्य प्रवेश द्वार बनेगा, जिसमें भगवान हनुमान के विराट स्वरूप की छवि दिखेगी। इसी तरह मुख्य प्रवेश द्वार से प्रथम प्रांगण तक 500 मीटर लंबा चिरंजीवी पथ बनेगा। 90 हजार वर्गफुट में कलाकृतियों के माध्यम से अंजनि पुत्र हनुमान जी के बाल स्वरूप का मनोहारी चित्रण होगा। दूसरे प्रांगण में 62 हजार वर्गफुट क्षेत्र में मूर्तियों एवं कलाकृतियों के माध्यम से भक्त-शिरोमणी हनुमान जी के भक्ति स्वरूप का चित्रण होगा।

वहीं हनुमान लोक के दूसरे चरण में रामटेकरी पर्वत की परिक्रमा के लिए संजीवनी पथ का विकास किया जाएगा। इसके अलावा अष्टसिद्धि केंद्र एवं संस्कृत विद्यालय, योगशाला प्रवचन हॉल एवं ओपन एयर थियेटर, जाम नदी पर घाट का निर्माण, वॉटर फ्रंट पाथ-वे एवं सिटिंग एरिया, भक्त निवास, भोजनालय एवं गौशाला शामिल है। रामलीला एवं अन्य धार्मिक आयोजनों के लिए जलाशय के तट पर 12 हजार वर्गफुट क्षेत्र में ओपन एयर थियेटर बनाया जाएगा।

भगवान के संकटमोचक स्वरूप से प्रेरणा लेकर परिसर में आयुर्वेदिक चिकित्सालय बनेगा। मंदिर के पास नदी तट का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। 37 हजार वर्गफुट में कम्युनिटी सेंटर, जन सुविधाएं, ट्रस्ट ऑफिस, प्रशासनिक कार्यालय एवं कंट्रोल रूम बनेगा। प्रसाद-पूजन सामग्री एवं भोजन आदि व्यवस्था के लिए 120 दुकान एवं फूड कोर्ट बनेंगे। 400 चार पहिया वाहनों एवं 400 दो पहिया वाहनों की क्षमता के लिए डेढ़ लाख वर्गफुट क्षेत्र में पार्किंग विकसित होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments