Thursday, June 20, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशशिवराज सिंह चौहान ने भाई दूज पर दिया महिलाओं को तोहफा, किया...

शिवराज सिंह चौहान ने भाई दूज पर दिया महिलाओं को तोहफा, किया ये बड़ा ऐलान

भोपाल: मध्य प्रदेश चुनावी समर पर त्योहारी माहौल का असर भी लगातार देखने को मिल रहा है भाई दूज के मौके पर सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने चुनावी लाभ के इरादे से अपना एक और पत्ता राज्य के उभरते सबसे बड़े वोटर समूह- महिलाओं के सामने चल दिया है। सीएम शिवराज ने महिलाओं से भाई दूज (Bhai Dooj) पर एक और वादा किया है। शिवराज ने बुधवार की सुबह-सुबह मीडिया से मुखातिब होते हुए ऐलान किया कि वो राज्य की हर महिला को लखपति बनाएंगे और जिनके नाम लाड़ली बहना योजना में छूट गए हैं, वो भी जोड़े जाएंगे। समारोह के दौरान, लाडली बाहनों ने मुख्यमंत्री को तिलक लगाया और उन्होंने सभी महिलाओं को बधाई और शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री भी लाडली बाहनों में शामिल हुए क्योंकि उन्होंने प्रार्थना की, और उनके लिए शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर महिलाओं के शिवराज सिंह ने डांस भी किया।

सीएम ने कहा, हमने सबसे पहले लाडली लक्ष्मी योजना बनाई

सीएम चौहान ने कहा मैं अपनी सभी बहनों को भाई दूज की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं। मैं हमेशा यह सुनिश्चित करने के लिए काम करूंगी कि मेरी बहनों के जीवन में खुशी और समृद्धि आए। हमने सबसे पहले लाडली लक्ष्मी योजना बनाई। हमने पहले ही वन विभाग को छोड़कर सभी नौकरियों में महिलाओं को 35% और शिक्षकों की नौकरियों में 50% आरक्षण दिया है। उसके बाद हमने लाडली बाहना योजना बनाई। उन्होंने कहा कि लाडली बाहना योजना के तहत वर्तमान में महिलाओं के खातों में 1250 रुपये जमा किए जा रहे हैं और आने वाले दिनों में यह बढ़कर 3,000 रुपये हो जाएगा।

बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश के सीएम को महिलाओं के लिए हितकारी योजनाओं के चलते राज्य में ‘मामा’ उपनाम से पहचाने जाते हैं। वो खुद को सूबे की महिलाओ के भाई और मामा बताते हैं। अब मध्य प्रदेश में चुनाव आ गए हैं तो वो अपनी इसी छवि को लगातार चमकाते हुए महिला वोटर्स को लुभाकर फिर से सत्ता तक पहुंचने की कोशिश में जुटे हुए हैं। इसी प्रयास के तहत उन्होंने भाई दूज के मौके पर महिलाओं से वादा करते हुए कहा कि लाड़ली बहना योजना में जिनका नाम छूट गया था, उन्हें भी जोड़ा जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि लाड़ली बहना योजना के बाद वो लखपति बहना योजना (Lakhpati Bahana Yojana) लाने जा रहे हैं और इस योजना के जरिए वो हर बहन को लखपति बनाएंगे

भाई दूज भाइयों और बहनों के बीच प्रेम और बंधन का प्रतीक है

उन्होंने कहा कि लाडली बाहना के बाद हम लाडली लखपति योजना शुरू करेंगे। जिसका अर्थ है कि मेरी प्रत्येक बहन को घरेलू काम करने के साथ-साथ हर महीने कम से कम 10,000 रुपए कमाने चाहिए। वर्तमान में स्वयं सहायता समूहों की मदद से राज्य में 15 लाख लखपति बाहना हैं। हम इस योजना के माध्यम से हर बहन को करोड़पति बना देंगे।

भाई दूज एक ऐसा त्योहार है जो भाइयों और बहनों के बीच प्रेम और बंधन का प्रतीक है। इस विशेष दिन पर बहनें अपने माथे पर ‘टीका’ लगाकर अपने भाइयों के लंबे और खुशहाल जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं। इस अवसर पर भाइयों और बहनों के बीच उपहारों और मिठाइयों का आदान-प्रदान होता है, जो उनके बंधन को मजबूत करता है।

भाई दूज का त्योहार भारत के अन्य हिस्सों में कई नामों से जाना जाता है

भाई दूज को भारत के अन्य हिस्सों में कई नामों से जाना जाता है। उत्तर भारत में इसे भाई दूज, भाऊ बीज और भाई बीज के नाम से जाना जाता है और महाराष्ट्र में इस दिन को भाई टीका के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को बंगाल में भाई फोंटा के रूप में मनाया जाता है। भारत के दक्षिणी क्षेत्रों में, विशेष रूप से कर्नाटक और तेलंगाना में, भाई दूज को यम द्वितीय के रूप में मनाया जाता है। इस उत्सव के पीछे की पौराणिक कथा यह है कि देवी यमुना ने कार्तिक द्वितीय के दिन अपने ही घर पर अपने भाई यमराज को खाना खिलाया था। तब से, इस दिन को यम द्वितीय के रूप में मान्यता दी गई है और मनाया जाता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments