Monday, February 26, 2024
Homeवायरल विडियोदुनिया का सबसे अनोखा एरपोर्ट, समुद्र के बीच में है मौजूद

दुनिया का सबसे अनोखा एरपोर्ट, समुद्र के बीच में है मौजूद

Unique airport: कंसाई को मूल ओसाका अंतर्राष्ट्रीय एरपोर्ट, जिसे इटामी हवाई अड्डा कहा जाता है, पर भीड़भाड़ से राहत देने के लिए 4 सितंबर 1994 को खोला गया , जो ओसाका शहर के करीब है । इसमें दो टर्मिनल हैं: टर्मिनल 1 और टर्मिनल 2। इतालवी वास्तुकार रेन्ज़ो पियानो द्वारा डिज़ाइन किया गया टर्मिनल 1, 1.7 किमी ( 1) की लंबाई के साथ दुनिया का सबसे लंबा हवाई अड्डा टर्मिनल है। जापान का कंसाई इंटरनेशनल एयरपोर्ट को दुनिया का सबसे अनोखा हवाई अड्डा माना जाता है, जो ओसाकी खाड़ी (Osaka Bay off) के बीच में एक कृत्रिम द्वीप कांकुजिमा (Kankūjima) पर स्थित है।

जापान का तीसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा

द सन की रिपोर्ट के अनुसार, यह पानी पर बना दुनिया का पहला हवाई अड्डा है, जहां हर साल बड़ी संख्या में हवाई जहाजों की लैंडिंग होती है, जिसकी वजह से 2019 में यह जापान का तीसरा सबसे व्यस्त हवाई अड्डा बन गया। हर साल 2 करोड़ यात्री उड़ान भरते हैं। एयरपोर्ट में 4000 मीटर का रनवे भी है, जो सामान्य लंबाई से लगभग दो गुना है। इसमें दो टर्मिनल शामिल हैं। इसे इटामी हवाई अड्डा भी कहा जाता है।

दुनिया का सबसे लंबा हवाई अड्डे का टर्मिनल-1

इटैलियन आर्किटेक्ट रेन्जों पियानो (Renzo Piano) ने कंसाई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के मुख्य टर्मिनल बिल्डिंग को डिजाइन किया। हवाई अड्डे का टर्मिनल-1 दुनिया में सबसे लंबा है, जिसकी लंबाई 1.7 किलोमीटर है। टर्मिनल का डिजाइन ग्लाइडर विमान के पंख की तरह दिखता है, जिस वजह से इस एयरपोर्ट की डिजाइन को बड़ा ही अनोखा लुक मिलता है। यह हवाई अड्डा 1994 में खुला था, जो केवल एक पतले पुल के जरिए मुख्य भूमि से जुड़ा है।

24 घंटे चालू

समुद्र के बीच में इस हवाई अड्डे को बनाए जाने की खास वजह है। ऐसा इसलिए किया गया ताकि स्थानीय लोगों को परेशान किए बिना हर दिन 24 घंटे चालू रह सके। यह जापान के ओसाका, क्योटो और कोबे शहरों का निकटतम इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। हवाई अड्डे का पहला हवाई अड्डा द्वीप (1st airport island) लगभग 510 हेक्टेयर में जबकि दूसरा हवाई अड्डा द्वीप (2nd airport island) लगभग 545 हेक्टेयर में फैला है। इस तरह ये पूरा हवाई अड्डा कुल मिलाकर 1,055 हेक्टेयर में फैला हुआ है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments