Sunday, April 21, 2024
Homeदुनियाएलन मस्क को मिली मंजूरी, कल फिर लॉन्च हो सकता है ताकतवर...

एलन मस्क को मिली मंजूरी, कल फिर लॉन्च हो सकता है ताकतवर रॉकेट स्टारशिप

Starship Rocket Launch: एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स अपने रॉकेट स्टारशिप को एक बार फिर लॉन्च करने की तैयारी में है। मस्क के इस सुपर हेवी रॉकेट को स्टारशिप (Starship) का नाम दिया गया है। खबर आ रही है कि इसकी लॉन्चिंग कल यानी 17 नवंबर को की जा सकती है। इसके साथ ही अब फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन की तरफ से इसकी लॉन्चिंग की मंजूरी मिल गई है। इससे पहले स्टारशिप को अप्रैल के महीने में लॉन्च किया गया था जो सफल नहीं हो पाया और इसमें विस्फोट हो गया था।
लंबे इंतजार के बाद में स्पेसएक्स को दूसरी बार स्टारशिप सिस्टम को लॉन्च करने की परमिशन मिल गई है। यह अब तक का सबसे पॉवरफुल रॉकेट होगा। एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स शुक्रवार को एक बार फिर से अपने रॉकेट स्टारशिप की लॉन्चिंग का प्रयास कर सकती है। संघीय नियामक की ओर से अनुमति मिलने के बाद यह संभावना जताई जा रही है। दक्षिण टेक्सास में अप्रैल में पहली लॉन्चिंग के दौरान यह कुछ समय बाद विस्फोट के कारण ये नष्ट हो गया था। लॉन्चिंग के दौरान किसी को चोटें नहीं आई थीं। हालांकि, लॉन्चिंग पैड को काफी नुकसान हुआ था।

क्या है प्लान

संघीय उड्डयन प्रशासन (FAA) की ओर से स्पेसएक्स को सुरक्षा, पर्यावरण और अन्य जरूरी मानकों को पूरा करने के बाद इसके लिए लाइसेंस जारी कर दिया गया है। स्पेसएक्स के पास नासा का तीन अरब डालर का कॉन्ट्रेक्ट है, जिसमें चंद्रमा की सतह पर वर्ष 2025 तक इस स्पेस क्राफ्ट के माध्यम से अंतरिक्ष यात्रियों को उतारना शामिल है। कंपनी की नजरें शुक्रवार सुबह पर हैं।

पहला मिशन फेल होने के बाद स्पेसएक्स ने इस रॉकेट में दर्जनों सुधार किए

गौरतलब है कि इसी साल 20 अप्रैल को रॉकेट स्टारशिप को लॉन्च किया गया था, लेकिन लॉन्च के चार मिनट बाद ही इसमें विस्फोट हो गया था। स्टारशिप मैक्सिको की खाड़ी में दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। हालांकि, इसमें कोई घायल नहीं हुआ था। पहला मिशन फेल होने के बाद स्पेसएक्स ने इस रॉकेट में दर्जनों सुधार किए हैं। करीब एक महीने पहले ही FAA ने स्टारशिप लॉन्च की सुरक्षा समीक्षा पूरी की थी। समीक्षा में पाया गया कि पर्यावरण समीक्षा को पूरा करने के लिए इसे और अधिक समय की आवश्यकता थी।

दर्ज हुआ था केस

यूएस मछली और वन्यजीव सेवा ने बताया था कि कंक्रीट के कई टुकड़े, स्टील की चादरें और अन्य वस्तुएं लॉन्चिंग पैड से हजारों फीट दूर जाकर गिरी थीं। वन्यजीव और पर्यावरण समूहों ने बोका चिका बीच के पास स्टारशिप कार्यक्रम कारण पर्यावरण पर हुए बुरे प्रभावों का असर पाया था, जिसके चलते FAA पर मुकदमा दर्ज हुआ था।

बता दें स्पेसएक्स को स्टारशिप लॉन्च करने की अनुमति तब मिली जब एजेंसी ने यह सुनिश्चित किया कि रॉकेट सभी सुरक्षा, पर्यावरण, पॉलिसी और फाइनेंशियल जिम्मेदारियों को पूरा कर रहा है। इसके अलावा इस लॉन्च से पर्यावरण को किसी भी प्रकार का खतरा नहीं है।

मंगल पर मनुष्यों को भेजने का है प्लान

स्टारशिप अंतरिक्ष यान और इसका सुपर हेवी बूस्टर के जरिए मनुष्यों को मंगल ग्रह पर भेजने का प्लान है। स्पेसएक्स का प्लान मंगल पर जाने का है। साथ ही 50 से अधिक वर्षों में पहली बार चंद्रमा पर मनुष्यों को वापस लाने के नासा के प्रयास में सहायता करना है। स्टारशिप का उद्देश्य आर्टेमिस III मिशन के लिए चंद्र लैंडर के रूप में काम करना है, जोकि 2025 के लिए निर्धारित है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments