Thursday, July 25, 2024
Homeबिज़नेसबैंक खाते में एक रुपया न होने पर भी यूपीआई से कर...

बैंक खाते में एक रुपया न होने पर भी यूपीआई से कर सकते हैं पेमेंट, RBI ने शुरु की नई सुविधा, जानें कैसे

Suvidha: यूपीआई से भुगतान व्यवस्था को बैंकों की तरफ से जारी पहले से मंजूर कर्ज (प्री-अप्रूव्ड लोन) सेवा से जोड़ दिया जाएगा। इससे बैंक ग्राहक खाते में पैसा नहीं होने पर भुगतान कर सकेंगे। अगर आप किसी दुकान में खरीदारी के लिए जाते हैं। तो आपको ऑनलाइन पेमेंट करना होगा। ऐसा हो कि आपके खाते में UPI का भुगतान करने के लिए पैसे नहीं है तो फिर अब आपको फिकर करने की जरुरत नहीं है। असल में RBI ने अब UPI सिस्टम को और आसान बनाने के लिए क्रेडिट लाइन सर्विस (UPI Credit Line Service) ऑफर करने की मंजूरी दे दी है। इसके बाद आपका बैंक खाता खाली होने पर भी आप झट से यूपीआई का भुगतान कर सकते हैं।

नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने यूपीआई से लेनदेन के लिए क्रेडिट लाइन सेवा शुरू कर दी है। इसे आरबीआई ने भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत यूपीआई से भुगतान व्यवस्था को बैंकों की तरफ से जारी पहले से मंजूर कर्ज (pre-approved loan) सेवा से जोड़ दिया जाएगा। इससे बैंक ग्राहक खाते में पैसा नहीं होने पर भुगतान कर सकेंगे।

आरबीआई ने इसी साल अप्रैल में यूपीआई का दायरा बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था। इसके तहत बैंकों में पहले से मंजूर कर्ज के जरिए भुगतान को मंजूरी देने की बात कही गई थी। अभी बचत खाते, ओवरड्राफ्ट खाता, प्रीपेड वॉलेट और क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से जोड़ा जा सकता है। अब यूपीआई के दायरे में क्रेडिट लाइन सेवा को भी शामिल कर लिया गया है।

क्रेडिट कार्ड सुविधा

यह एक तरह का ऋण होगा, जो बैंकों की ओर से अपने ग्राहकों के लिए पहले से मंजूर होगा। इसमें क्रेडिट कार्ड की तरह ही ग्राहक को खर्च करने के लिए निश्चित रकम निर्धारित की जाएगी। इस रकम का इस्तेमाल ग्राहक जरूरत पड़ने पर यूपीआई से भुगतान के लिए कर सकेंगे। जितनी राशि खर्च की जाएगी, उतने पर ही बैंक ब्याज वसूलेंगे।

सेवा के लिए करना होगा आवेदन

  • क्रेडिट लाइन सुविधा का लाभ उठाने के लिए ग्राहक को बैंक के पास आवेदन देना होगा।
  • बैंक क्रेडिट हिस्ट्री और व्यक्तिगत विवरण को देखतेहुए कर्जकी सीमा तय करेंगे। हर व्यक्ति के लिए ये सीमा अलग-अलग हो सकती है।
  • ग्राहक द्वारा खर्च की गई राशि और दिनों की संख्या के लिए हिसाब से बैंक ब्याज वसूलेंगे। पूरी राशि पर ब्याज नहीं लगेगा।
  • इसे सेवा को शुरू करने के लिए संबंधित बैंक में खाता होना जरूरी है। सेवा के लिए बैंक प्रोसेसिंग शुल्क और जीएसटी वसूल सकतेहैं।
  • अगर किसी महीने राशि खर्च नहीं होती है तो उस पर ब्याज नहीं वसूला जाएगा।

यूपीआई ऐप को ऐसे लिंक करें

  • अपने मोबाइल में यूपीआई ऐप खोलें। इसके बाद नया पे-लेटर खाते का विकल्प चुनें।
  • अब जिस बैंक मेंक्रेडिट लाइन सेवा हुई है, उसका चयन करें। फिर यूपीआई पिन का चयन करें। इसके बाद भुगतान कर सकेंगे।
    ग्राहकों को ऐसे फायदा
  • ग्राहकों को अलग-अलग कार्ड नहीं रखना पड़ेगा। मोबाइल सेही यूपीआई के जरिए भुगतान कर सकेंगे।
  • क्रेडिट कार्ड बनने में समय लगता है। क्रेडिट लाइन को तुरंत मंजूरी मिल जाएगी।

UPI की पॉपुलैरिटी में इजाफा

UPI की पॉपुलरटी लोगों के बीच में जोरदार तरीके से बढ़ रही है और न सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी देश के UPI की चर्चा होती है। इसे देखते हुए UPI में काफी तरह की नई सुविधाओं को जोडते हुए बदलाव किए जा रहे हैं, जिससे यूजर्स को लाभ मिल सके। अब इस क्रेडिट लाइन लिमिट के द्वारा यूपीआई नॉउ पे लेटर सुविधा लोगों के लिए लाभदायक साबित हो सकती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments