Saturday, December 10, 2022
Homeनारी विशेषबच्चों को सिखाएं पर्सनल हाइजीन से जुड़ी ये 5 आदतें

बच्चों को सिखाएं पर्सनल हाइजीन से जुड़ी ये 5 आदतें

छोटे बच्चों की इम्यूनिटी कमजोर होती है, ऐसे में सेहत के प्रति बरती गई थोड़ी सी भी लापरवाही उन्हें बीमार बना सकती है। बच्चों के बीमार पड़ने का सबसे बड़ा कारण पर्सनल हाइजीन से जुड़ी कुछ बातों की जानकारी का अभाव भी हो सकता है। जो आगे चलकर पेट में इंफेक्शन, आंखों में इंफेक्शन, कमजोरी इम्यूनिटी और स्किन व आंखों से जुड़ी बीमारियों का कारण बन सकता है।

टॉयलेट इस्तेमाल करने का सही तरीका

3 साल की उम्र के बाद अपने बच्चों को टॉयलेट हाइजीन से जुड़ी ये बातें जरूर समझाएं। जैसे कि टॉयलेट इस्तेमाल करने का सही तरीका ताकि इंफेक्शन से बचाव रहे। दूसरा, टॉयलेट यूज करने के बाद  20 से 30 सेकंड तक साबुन से हाथों को धोने का सही तरीका। जिसमें कि वो अपनी उंगलियों के बीच, अपने हाथों के पीछे और अपने नाखूनों के नीचे अच्छे से सफाई करें। तीसरा, टॉयलेट यूज करने के बाद एक साफ तौलिया या टिशू पेपर का ही इस्तेमाल करें।
 
हाथों की सफाई

सेहतमंद बने रहने के लिए हाथों की सफाई से जुड़ी कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। व्यक्ति के हाथों पर कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस हो सकते हैं। ऐसे में घर से लेकर स्कूल तक के बीच में ट्रेवल करते समय बच्चों को ये जरूर समझाएं कि उन्हें कब और किन चीजों को खाने से पहले अपने हाथों को साफ करना चाहिए। वर्ना ये कीटाणु उनके मुंह, नाक, आंख या कान के माध्यम से उनके शरीर में आसानी से प्रवेश कर सकते हैं। इससे बचने के लिए बच्चों को कुछ भी खाने से पहले और बाद में हाथ जरूर साफ करने चाहिए। दूसरा, छींकते हैं या फिर खांसते समय हाथ जरूर साफ करें। तीसरा, बच्चों को समझाएं कि जब कभी वो किसी जानवर को छूएं तो अपने हाथ जरूर साफ करें।

डेंटल हाइजीन

बात जब डेंटल हाइजीन की होती है तो सिर्फ दांतों की सफाई ही नहीं बल्कि पूरे मुंह की सफाई की बात होती है। दांतों और मसूड़ों की उचित देखभाल करके मसूड़ों से जुड़ी बीमारियों और कैविटी को रोकने में मदद मिल सकती है। इसके लिए दिन में कम से कम दो बार 2 मिनट तक सुबह उठने के बाद और सोने से पहले ब्रश करें। दांतों के साथ अपनी जीभ की सफाई भी करें।

नहाने से जुड़ी अच्छी आदतें

4 साल की उम्र के बाद बच्चों को समझाएं कि रोज नहाना बच्चों के लिए क्यों जरूरी है। इसके अलावा नहाते समय शरीर के किन-किन अंगों की सफाई करनी जरूरी होती है।

नाखूनों की साफ सफाई

समय-समय पर बच्चों के नाखून ट्रिम करना और उनकी साफ-सफाई का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। नाखून में सबसे ज्यादा गंदगी और बैक्टीरिया छिपे रहते हैं। इसलिए बच्चों को उन्हें साफ रखने का तरीका बताएं। उन्हें बताएं कि नाखून की समय-समय पर कटिंग करें। नहाते समय अपने नाखून की सफाई जरूर करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Join Our Whatsapp Group